Sunday, April 26, 2020

राजकुमारी और राजकुमार की हिंदी प्रेम कहानी । Rajkumari aur Rajkumari ki hindi prem kahani


राजकुमारी और राजकुमार की हिंदी प्रेम कहानी, जब लाचारी और परेशानी साथ होतु है तो ऐसे में हमारे अपने भी हमारा साथ छिड़ देते है । ऐसे ही मुसिबति के वक़्त हमे अपनो और परायो का पता चलता है । पराये जो बीच रास्ते मे छोड़ जाते है, और अपने जब तक मुसिबति चली नही जाती साथ खड़े रहते है ।


राजकुमारी और राजकुमार की एक ऐसी ही प्रेम कहानी हम जानेंगे, जिसमे जीवन मे सही व्यक्ति का साथ हो तो जीवन में कटे भरे रास्तो पर चलना बहुत असान हो जाता है । जब हम उस रास्ते को साथ मिलकर पार करते है तो हमे आशा की वह किरण दिखाई देती है जो हमारे जीवन मे हमेशा के लिए उजाला कर दे ।
राजकुमारी और राजकुमार की हिंदी प्रेम कहानी । Rajkumari aur Rajkumari ki hindi prem kahani
राजकुमारी और राजकुमार


राजकुमारी और राजकुमार की हिंदी प्रेम कहानी



एक राज्य में एक राजकुमार रहता था । राजकुमार बहित ही सुंदर और ज्ञानी था । पूरे राज्य में राजकुमार की तरह वैभवशाली कोई भी नही था । एक दिन राजकुमार की तबियत बिगड़ जाती है । राज्य के बड़े से बड़े वैदय उसे ठीक करने के लोए आते है लेकिन कोई भी राजकुमार को ठीक करने सफल नही होते ।



राजकुमार को ठीक करते करते कई साल बीत गए लेकिन राजकुमार ठीक नही हुआ सभी को लगा कि अब राजकुमार  ऐसा ही रहेगा पूरी ज़िंदगी । राजकुमार के ठीक न होने की बात पूरे राज्य में फैल गया । राजकुमार को बीमार पाकर कोई भी राजकुमार से शादी करने के लिए तैयार नही था ।



दूसरे राज्य एक राजा की 5 राजकुमारिया थी । राजा अपने सभी लड़कियों से बहुत प्यार करता था । एक दिन राजा ने अपने सभी लड़कियों से पूछा कि तुम किसकी वजह से खुश हो । 4 लड़कियों ने कहा पिताजी आपके वजह से लेकिन छोटी लड़की ने कहा ईश्वर की वजह से मैं खुश हूं । मेरे जीवन मे जितने भी खुशिया और गम है ये सब इस उपर वाले कि देंन है ।


छोटी राजकुमारी की बात सुनकर राजा बहुत गुस्सा हो जाता है और उसे बोलता है, अगर तुम मेरे वजह से खुश नही तो तुम्हारी शादी करके तुम्हे यह से दूर भेज दिया जाएगा । राजा को पता था एक राजकुमार है जिसकी हालत अछि नही । राजा आने छोटी राजकुमारी का विवाह उस लाचार राजकुमार से कर देता है।



विवाह के बाद राजा बोलता है अगर तुम्हें सब ईश्वर देंगे तो तुम्हे इस महक में रहने का कोई हक नही और दोनो राजकुमारी और राजकुमार को माह से भाग देता है । दोनो जंगल मे अपना चिटा से झोपड़ा बा कर रहे थे ।



एक दिन राजकुमार सोया था तभी उसके मुह से बाहर एक सांप निकला और बगल के दूसरे सांफ से बाते करने लगा । जंगल का सांप बोलता है कि तूने इस राजकुमार के शरीर मे अपना घर बना कर रखा बेचारे राजकुमार की जिंदगी बर्बाद कर दी है, अगर कोई राजकुमार को राई पीस कर खिक दे तो तू मार जाएगा।



जंगल के साँप की बात सुनकर पहला सांफ बोलता है कि तूने भी तो सोने के जेवर पर कुंडली मार कर बैठ है । अगर कोई तेरे बिल में राई का तेल डाल दे तो तू भी मर जायेगा । इतनी बाते करने के बाद दोनो सांफ चले जाते है । उन दोनों की बाते छोटी राजकुमारी सुनते रहती है ।




राजकुमारी बिना देर किए राजकुमार को राई खिला देती है, जैसे ही राजकुमार राई खाता है वैसे ही राजकुमार के बितर से मारा सांफ बाहर आ जाता है, और राजकुमार तजिक हो जाता है । राजकुमारी दूसरे सांफ के बिक में राई का तेल डाल देती है जिससे दूसरा सनोह भी मर जाता है, और राजकुमारी और राजकुमार को बहुत सारा धन मिल जाता है ।


उस धन से राजकुमारी और राजकुमार खुद का महल बनाते है । और एक नया राज्य का निमाड़ करते है । जब उनके पिता को पता चलता है कि एक नया राजा बना है । सभी उनसे मिलने के लिए जाते है । उन्हें आयात चलता है है कि वह उनकी बेटी है । राजा आने बेटी के सामने यह मान लेता है कि जो भी होता है सब ईश्वर के मर्जी से ही होता है। उनमे इंसान का कोई भी हाथ नही होता ।



राजकुमारी और राजकुमार सुखी सुखी रहने लगते है, और उनकी प्रेम कहानी बहुत ही मसहूर हो जाती है पूरे राज्य में ।



सिख : राजकुमारी और राजकुमार की हिंदी प्रेम कहानी से हमे यह सिख मिलती है की कभी भी खुद पर घमंड नही करना चाहिये, क्योंकि समय को बदलते देर नही लगती आज समय तुम्हारा है तो कक किसी और का होगा । जीवन मे सही साथी का साथ होने से जीवन बहुत हि सरल और सुखम ।

0 Please Share a Your Opinion.:

please do not enter any spam link